KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

Students can Download Hindi Lesson 5 मेरा बचपन Questions and Answers, Summary, Notes Pdf, Activity, KSEEB Solutions for Class 10 Hindi helps you to revise the complete Karnataka State Board Syllabus and to clear all their doubts, score well in final exams.

Karnataka State Syllabus Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

मेरा बचपन Questions and Answers, Summary, Notes

अभ्यास

I. एक वाक्य में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
अब्दुल कलाम जी का जन्म कहाँ हुआ?
उत्तर:
अब्दुल कलाम जी का जन्म मद्रास राज्य (वर्तमान तमिलनाडु) के रामेश्वरम् कस्बे में हुआ था।

प्रश्न 2.
अब्दुल कलाम जी बचपन में किस घर में रहते थे?
उत्तर:
अब्दुल कलाम जी बचपन में अपने पुश्तैनी घर में रहते थे।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

प्रश्न 3.
अब्दुल कलाम जी के बचपन में दुर्लभ वस्तु क्या थी?
उत्तर:
अब्दुल कलाम जी के बचपन में पुस्तकें एक दुर्लभ वस्तु की तरह थी।

प्रश्न 4.
जैनुलाबंदीन ने कौन-सा काम शुरू किया?
उत्तर:
जैनुलाबदीन ने नौकाएँ बनाने का काम शुरू किया।

प्रश्न 5.
अब्दुल कलाम जी के चचेरे भाई कौन थे?
उत्तर:
अब्दुल कलाम जी के चचेरे भाई शम्सुद्दीन थे।

अतिरिक्त प्रश्नोत्तर :

प्रश्न 6.
रामेश्वरम् क्यों प्रसिद्ध तीर्थस्थल बना है?
अथवा
रामेश्वरम् किस कारण प्रसिद्ध है?
उत्तर:
वहाँ के प्रतिष्ठित शिव मंदिर के कारण रामेश्वरम् प्रसिद्ध तीर्थस्थल बना है।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

प्रश्न 7.
रामेश्ट म् मंदिर के सबसे बड़े पुजारी कौन थे?
उत्तर:
पक्षी लक्ष्मण शास्त्री रामेश्वरम् मंदिर के सबसे बड़े पुजारी थे।

प्रश्न 8.
नौकाएँ किस काम आती थी?
उत्तर:
नौकाएँ तीर्थयात्रियों को रामेश्वरम् से धनुषकोडि तक लाने-ले जाने के काम आती थी।

प्रश्न 9.
कलाम के पिताजी किस के साथ मिलकर नौकाएँ बनाने लगे?
उत्तर:
कलाम के पिताजी एक स्थानीय ठेकेदार अहमद जलालुद्दीन के साथ मिलकर नौकाएँ बनाने लगे।

प्रश्न 10.
जलालुद्दीन कलाम को क्या कहकर पुकारा करते थे?
उत्तर:
जलालुद्दीन कलाम को आजाद कहकर पुकारा करते थे।

प्रश्न 11.
शम्सुद्दीन क्या काम करता था?
उत्तर:
शम्सुद्दीन रामेश्वरम् में अखबारों के वितरक थे।

प्रश्न 12.
कलाम के बचपन के पक्के दोस्त कौन-कौन थे?
अथवा
अब्दुल कलाम के बचपन के साथी कौन-कौन थे?
उत्तर:
रामानंद शास्त्री, अरविंदन और शिवप्रकाश कलाम के बचपन के तीन पक्के दोस्त थे।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

प्रश्न 13.
अब्दुल कलाम का बचपन कैसे बीता?
उत्तर:
अब्दुल कलाम का बचपन बहुत ही निश्चिंतता और सादगी में बीता।

प्रश्न 14.
अब्दुल कलाम के पिताजी कैसे व्यक्ति थे?
उत्तर:
अब्दुल कलाम के पिताजी बुद्धिमान थे। उनमें उदारता की सच्ची भावना थी।

प्रश्न 15.
अब्दुल कलाम जी ने जीवन भर किनकी बातों का अनुसरण किया?
उत्तर:
अब्दुल कलाम जी ने जीवन भर अपने पिताजी की बातों का अनुसरण किया।

प्रश्न 16.
कलाम और जलालुद्दीन किस विषय पर बात करते थे?
उत्तर:
कलाम और जलालुद्दीन आध्यात्मिक विषयों पर बात करते थे।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

प्रश्न 17.
अब्दुल कलाम जी के माता-पिता का नाम क्या है?
उत्तर:
अब्दुल कलाम के पिता का नाम जैनुलाबदीन और माता का नाम आशियम्मा था।

II. दो-तीन वाक्यों में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
अब्दुल कलाम का बचपन बहुत ही निश्चिंतता और सादगी में बीतने के कारण लिखिए।
उत्तर:
अब्दुल कलाम के पिता आडंबरहीन व्यक्ति थे और सभी अनावश्यक एवं ऐशो-आराम वाली चीजों से दूर रहते थे। घर पर सभी आवश्यक चीजे समुचित मात्रा में सरलता से उपलब्ध थीं। इसलिए कलाम का बचपन निश्चिंतता और सादगी में बीता।

प्रश्न 2.
आशियम्मा जी अब्दुल कलाम को खाने में क्या-क्या देती थीं?
उत्तर:
आशियम्मा जी अब्दुल कलाम को खाने में चावल के साथ सुगंधित, स्वादिष्ट सांबार देती थी साथ में घर का बना अचार और नारियल की ताज़ी चटनी भी देती थी।

प्रश्न 3.
जैनुलाबदीन नमाज के बारे में क्या कहते थे?
अथवा
अब्दुल कलामजी ने नमाज की प्रासंगिकता के बारे में क्या कहा है?
उत्तर:
जैनुलाबदीन नमाज के बारे में कहते थे, जब तुम नमाज पढ़ते हो तो तुम अपने शरीर में इतर ब्रह्मांड का एक हिस्सा बन जाते हो, जिसमें दौलत, आयु, जाति या धर्म-पंथ का कोई भेदभाव नहीं होता।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

प्रश्न 4.
जैनुलाबदीन ने कौन-सा काम शुरू किया?
उत्तर:
जैनुलाबदीन ने लकडी की नौकाएँ बनाने का काम शुरु किया । ये नौकाएँ तीर्थ यात्रियों को रामेश्वरम् से धनुषकोड तक लाने ले जाने के काम आती थीं।

अतिरिक्त प्रश्नोत्तर :

प्रश्न 5.
अब्दुल कलाम के माता-पिता के बारे में लिखिए।
उत्तर:
अब्दुल कलाम के पिता आडंबरहीन व्यक्ति थे। वे बुद्धिमान थे और उनमें उदारता की सच्ची भावना थी। उनकी माँ आदर्श जीवनसंगिनी थीं। कलाम के माता-पिता को समाज में एक आदर्श दंपती के रूप में देखा जाता था।

प्रश्न 6.
अहमद जलालुद्दीन के बारे में लिखिए।
अथवा
अहमद जलालुद्दीन का परिचय दीजिए।
उत्तर:
अहमद जलालुद्दीन अब्दुल कलाम के पिताजी के साथ नौका बनाने का काम करते थे। एवं वे कलाम की बड़ी बहन के पति और कलाम के अंतरंग मित्र भी थे। पूरे इलाके में जलालुद्दीन ही अंग्रेजी में लिख सकते थे। और न ही किसी को उनके बराबर बाहरी दुनिया के बारे में पता था।

प्रश्न 7.
अब्दुल कलाम देखने में कैसे थे?
उत्तर:
अब्दुल कलाम लंबे-चौड़े व सुंदर माता-पिता का छोटी कद-काठी का साधारण-सा दिखनेवाला बच्चा था। वह अपने माता-पिता की कई संतानों में से एक था।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

प्रश्न 8.
कलाम को जलालुद्दीन ने नई दुनिया का बोध कैसे कराया?
उत्तर:
जलालुद्दीन हमेशा कलाम को शिक्षित लोगों के बारे में बताते थे। वे वैज्ञानिक खोजों, समकालीन साहित्य, चिकित्सा विज्ञान की उपलब्धियों के बारे में बताते थे। ज्ञान संबंधी इन जानकारियों से कलाम सीमित दायरे से बाहर निकल पाए और उन्हें नई दुनिया का बोध हुआ।

III. चार-पाँच वाक्यों में उत्तर लिखिए :

प्रश्न 1.
शम्सुद्दीन अखबारों के वितरण का कार्य कैसे करते थे?
उत्तर:
शम्सुद्दीन अब्दुल कलाम के चचेरे भाई थे। वे रामेश्वरम् में अखबारों के एकमात्र वितरक थे। अखबार रामेश्वरम् स्टेशन पर ट्रेन से पहुँचते थे। इस अखबार एजेंसी को अकेले शम्सुद्दीन ही चलाते थे। वे एक हजार प्रतिया रोज़ बेचते थे।

IV. इन मुहावरों पर ध्यान दीजिए :

  1. पौ फटना = प्रभात होना
  2. काम आना = काम में आना, इस्तेमाल होना।

V. अन्य वचन रूप लिखिए :

बच्चा, गली, केला, नौका, प्रतियाँ, पुस्तकें
उत्तर:

  • बच्चा – बच्चे
  • गली – गलियाँ
  • केला – केले
  • नौका – नौकाएँ
  • प्रतियाँ – प्रति
  • पुस्तकें – पुस्तक

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

VI. विलोम शब्द लिखिए :

बहुत, शाम, सफल, अच्छा, बड़ा, अपना
उत्तर:

  • बहुत × थोडा
  • शाम × सुबह
  • सफल × असफल
  • अच्छा × बुरा
  • बड़ा × छोटा
  • अपना × पराया

VII. जोड़कर लिखिए :

अ – आ
1) मेरे पिता – अ) चचेरे भाई
2) मद्रास राज्य – आ) अंतरंग मित्र
3) शम्सुद्दीन – इ) रामानंद शास्त्री
4) अहमद जलालुद्दीन – ई) जैनुलाबदीन
5) पक्का दोस्त – उ) तमिलनाडु
– ऊ) रामेश्वरम्
उत्तरः
1. ई;
2. उ;
3. अ;
4. आ;
5. इ।

VIII. रिक्त स्थानों की पूर्ति कीजिए :

  1. आशियम्मा उनकी आदर्श _________ थीं।
  2. रामेश्वरम् प्रसिद्ध __________ है।
  3. पुजारी पक्षी लक्ष्मण शास्त्री मेरे पिताजी के ____________ थे।
  4. अखबार एजेंसी को अकेले __________ ही चलाते थे।
  5. अहमद जलालुद्दीन की __________ के साथ शादी हो गई।

उत्तरः

  1. जीवन संगिनी;
  2. तीर्थस्थल;
  3. अभिन्न मित्र;
  4. शम्सुद्दीन;
  5. अब्दुल कलाम की बड़ी बहन जोहरा।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

IX. अनुरूपता:

  1. गांधीजी : राष्ट्रपिता : : अब्दुल कलाम : _________
  2. जलालुद्दीन : जीजा : : शम्सुद्दीन : __________
  3. ट्रेन : भू-यात्रा : : नौका : ___________
  4. हिंदू : मंदिर : : इस्लाम : ___________

उत्तरः

  1. राष्ट्रपति;
  2. चचेरे भाई;
  3. जल-यात्रा;
  4. मस्जिद।

X. सही शब्द से खाली स्थान भरिए :

प्रश्न 1.
अब्दुल कलाम का जन्म _____________ में हुआ।
अ) चेन्नै
आ) बेंगलूरु
इ) रामेश्वरम्
ई) श्रीरंगम्
उत्तरः
इ) रामेश्वरम्

प्रश्न 2.
रामेश्वरम् में प्रतिष्ठित _________________ मंदिर है।..
अ) विष्णु
आ) अय्यप्पा
इ) हनुमान
ई) शिव
उत्तरः
ई) शिव

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

प्रश्न 3.
जैनुलाबदीन की दिनचर्या _______________ के पहले शुरू होती थी।
अ) पौ फटने
आ) सूर्यास्त
इ) दोपहर
ई) शाम
उत्तरः
अ) पौ फटने

प्रश्न 4.
अहमद जलालुद्दीन अब्दुल कलाम को __________________ कहकर पुकारा करते थे।
अ) अब्दुल
आ) आजाद
इ) राष्ट्रवादी
ई) कलाम
उत्तरः
आ) आजाद

XI. वाक्यों में प्रयोग कीजिए :

जीवन संगिनी, पुश्तैनी, प्रसिद्ध, दिनचर्या, संतुष्टि
उत्तरः

  1. जीवन संगिनी : कस्तूरबा गांधी एक आदर्श जीवन संगिनी थीं।
  2. पुश्तैनी : हमारा पुश्तैनी घर मंगलूर में है।
  3. प्रसिद्ध : प्रेमचन्द एक प्रसिद्ध कहानीकार है।
  4. दिनचर्या : अच्छे स्वास्थ्य की पहली शर्त है दिनचर्या।
  5. संतुष्टि : संतुष्टि एक ऐसा धन है, जिसके अभाव में मनुष्य हमेशा चिंताओं में घिरा रहता है।

XII. पर्यायवाची शब्द लिखिए :

घर, बुनियाद, शाम, शरीर, दोस्त
उत्तरः

  • घर – मकान
  • बुनियाद – आधार
  • शाम – साँझ
  • शरीर – तन
  • दोस्त – मित्र

भाषा ज्ञान

I. उदाहरण के अनुसार प्रेरणार्थक क्रिया शब्दों को लिखिए :

पढ़ना – पढ़ाना

  1. देखना – ________
  2. सुनना – __________
  3. करना – _________
  4. जगना – __________
  5. भेजना – _________
  6. चलना – __________
  7. बैठना – ___________
  8. रोना – __________
  9. धोना – ___________
  10. देना – ____________

उत्तरः

  1. देखना – दिखाना
  2. सुनना – सुनाना
  3. करना – कराना
  4. जगना – जगाना
  5. भेजना – भिजवाना
  6. चलना – चलाना
  7. बैठना – बिठाना
  8. रोना – रूलाना
  9. धोना – धुलाना
  10. देना – दिलाना

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

II. उदाहरण के अनुसार प्रेरणार्थक शब्दों की सहायता से पाँच वाक्य बनाइए:

उदा : अध्यापक कहानी सुनाते हैं।

  1. _____________
  2. _____________
  3. _____________
  4. _____________
  5. _____________

उत्तरः

  1. गोपाल कठिन परिश्रम करता है।
  2. हमारे माता पिता हमें सही रास्ता दिखाते हैं।
  3. श्याम राधा से पत्र लिखवाता है।
  4. मालिक नौकर से सामान उठवाता है।
  5. माँ बच्चे को आम खिलाती है।

III. कन्नड़ या अंग्रेजी में अनुवाद कीजिए :

प्रश्न 1.
रामेश्वरम् प्रसिद्ध तीर्थस्थल है।
KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन
Rameswaram is a well known (famous) place of pilgrimage.

मेरा बचपन Summary in Hindi

मेरा बचपन लेखक परिचय :
अउल फकीर जैनुलाबदीन अब्दुल कलाम जी का जन्म 15-10-1931 को हुआ। बड़े वैज्ञानिक डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम जी 25-07-2002 से 24-07-2007 तक हमारे देश के राष्ट्रपति थे। देश के आदर्श तथा ‘जनवादी राष्ट्रपति’ के नाम से भारत के करोड़-करोड़ हृदयों में प्रतिष्ठित कलाम जी अपनी 82 वर्षों की उम्र में भी अनेकानेक सामाजिक प्रगतिशील आंदोलनों में अत्यंत सक्रिय रहे। बच्चों तथा युवकों के चैतन्यशील एवं बहुमुखी व्यक्तित्व के निर्माणार्थ आपके नये अभियान का मंत्र था – ‘मैं क्या दूँ?’ स्वपरिवर्तन की ओर उन्मुख इस अभियान का उद्घोष था – ईमानदार कार्य एवं ईमानदार का नाम। ‘होमपाल’ अभियान द्वारा आप बचपन में ही इन सवालों को बोना चाहते थे कि “मैं देश के लिए क्या दे सकता हूँ? समाज एवं परिसर के लिए क्या कर सकता हूँ?”

पाठ का आशय :
भारत के राष्ट्रपति कलाम जी का जीवन सादगी का मिसाल था। उनके माता-पिता का परिश्रम, आडंबरहीन जीवन सबके लिए आदर्शप्राय है। उनका परिवार अतिथियों की सेवा से संतृप्त था। उनका परिवार धार्मिक एकता को मानता था। बच्चों के चैतन्यशील, बहुमुखी व्यक्तित्व के निर्माण के लिए ऐसे आदर्श व्यक्तियों की जीवनी प्रेरणाप्रद है।

पाठ का सारांश :
डॉ. ए.पी.जे. अब्दुल कलाम का जन्म तमिलनाडु के रामेश्वरम कस्बे में हुआ था। उनके पिता जैनुलाबदीन बुद्धिमान और उदार व्यक्ति थे। उनकी माँ आशियम्मा एक आदर्श पत्नी थी। समाज में उन्हें आदर्श माना जाता था। कलाम का परिवार रामेश्वरम की मस्जिदवाली गली में रहता था। उनका जीवन सादगी और निश्चिंतता के साथ बीता था।

मेरा बचपन Summary in Hindi 1

कलाम अक्सर अपनी माँ के साथ रसोई में नीचे बैठकर खाना खाते थे। रामेश्वर का प्रसिद्ध शिव मन्दिर उनके घर से पैदल दस मिनट की दूरी पर था। अपने मुहल्ले में रहने वाले हिन्दू परिवारों के साथ वे मिल-जुलकर रहते थे। कलाम के पिता उन्हें नमाज के लिए साथ ले जाते थे।

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

रामेश्वर मंदिर के पुजारी पक्षी लक्ष्मण शास्त्री उनके पिताजी के परम मित्र थे। वे आपस में आध्यात्मिक चर्चाएँ करते थे। एक बार कलाम ने अपने पिताजी से नमाज की प्रासंगिकता के बारे में पूछा था। उन्होंने जवाब दिया था कि नमाज के वक्त व्यक्ति जाति-धर्म-पंथ के भेदभाव से दूर हो जाता है। कलाम पर उनके पिताजी के विचारों का गहरा असर था। कलाम के पिताजी ने नौका बनाने का काम ठेकेदार अहमद जलालुद्दीन के साथ शुरू किया। बाद में इनके साथ कलाम की बड़ी बहन जोहरा से शादी हुई।

एक बार कलाम ने समुद्र की तेज हवाओं के कारण पामबन के पुल को टूटते और जन-हानि को देखा था। इससे उन्हें समुद्र की अपार और अनियंत्रित उर्जा का पता चला।

मेरा बचपन Summary in Hindi 2

जलालुद्दीन उनके घनिष्ठ मित्र बन गए थे। वे आपस में चर्चाएं करते थे। वे कलाम को ‘आजाद’ कहकर बुलाते थे। जलालुद्दीन अंग्रेजी लिख-पढ़ सकते थे। उन्होंने कलाम को शिक्षित व्यक्तियों, वैज्ञानिक खोजों, समकालीन साहित्य और चिकित्सा विज्ञान की उपलब्धियों से परिचय करवाया।

कलाम बचपन में उग्र राष्ट्रवादी एस.टी.आर. मानिकम के निजी पुस्तकालय से किताबें लाकर पढ़ते थे। मानिकम ने हमेशा पढ़ने के लिए उत्साहित किया। चचेरे भाई शम्सुद्दीन से भी कलाम प्रभावित हुए थे। वे अखबार एजेंसी चलाते थे।

बचपन में कलाम के तीन पक्के दोस्त थे – रामानंद शास्त्री, अरविंदन और शिवप्रकाश। अलग-अलग धर्म के होने के बावजूद भी किसी ने भी आपस में भेदभाग महसूस नहीं किया। भारत के राष्ट्रपति कलाम का जीवन सादगी की मिसाल था। इस पाठ के द्वारा छात्र सादगी, धार्मिक सहिष्णुता, मिल-जुलकर रहना और किताबें पढ़ने का प्रयोजन आदि की प्रेरणा पा सकते हैं।

मेरा बचपन Summary in Kannada

मेरा बचपन Summary in Kannada 1

मेरा बचपन Summary in Kannada 2

मेरा बचपन Summary in Kannada 3

मेरा बचपन Summary in English

Dr A. Ri. Abdul Kalam was born into a middle-class family In the town of Rameswaram in the state of Tamil Nadu. His father Jainulabdeen had neither much formal education nor much wealth; despite these disadvantages, he possessed great innate wisdom and true generosity of spirit. He had an ideal helpmate in his wife, Ashiamma.

The family lived in an ancestral house situated on Mosque Street. His austere father used to avoid all inessential comforts and luxuries. However, he provided for all necessities, in terms of food, medicine or clothes.

Abdul Kalam normally ate with his mother, sitting on the floor of the kitchen. She would place a banana leaf before him, on which she then ladled rice and aromatic sambhar, a variety of home-made pickles and a dollop of fresh coconut chutney.

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

The famous Shiva temple, which made Rameswaram so sacred to pilgrims, was about a ten-minute walk from their house. The locality was predominantly Muslim, but there were quite a few Hindu families too, living amicably with their Muslim neighbours. There was an old mosque in the locality where his father would take him for evening prayers.

The high priest of Rameswaram temple, Pakshi Lakshmana Sastry, was a very close friend of Abdul Kalam’s father. One of Kalam’s most vivid memories of his early childhood is of the two men, each in his traditional attire, discussing spiritual matters. When Kalam was old enough to ask questions, he asked his father about the relevance of prayer. His father explained to him that prayer made possible a communion of the spirit between people. He said, “When you pray, you transcend your body and become a part of the cosmos, which knows no division of wealth, age, caste, or creed”.

Abdul Kalam’s father used to start his day at 4 a.m. by reading the namaaz before dawn. After the namaaz, he used to walk down to a small coconut grove that they owned, about four miles from their home. He would return, with about a dozen coconuts tied together thrown over his shoulder, and only then would he have his breakfast. This remained his routine even when he was in his late sixties. Abdul Kalam says that he has tried throughout his life to emulate his father in his own world of science and technology.

Abdul Kalam was about six years old when his father embarked on the project of building a wooden sailboat to take pilgrims from Rameswaram to Dhanuskodi and back. He worked at building the boat on the seashore, with the help of a relative, Ahmed Jalaluddin, who later married his sister Zohara. His father was doing good business with the boat when, one day, a cyclone bringing winds of over 100 miles per hour carried away their boat. The Pamban Bridge collapsed with a train full of passengers on it. Until then Kalam had only seen the beauty of the sea; now its uncontrollable energy came as a revelation to him.

By the time the boat met its untimely end, Ahmed Jalaluddin had become a close friend of Kalam, despite the difference in their ages. Jalaluddin was about 15 years older than Kalam and he used to call Kalam ‘Azad. They used to go for long walks together every evening. As they started from Mosque Street and made their way towards the sandy shores, they talked mainly of spiritual matters. Incidentally, at that time, Jalaluddin was the only person in the town who could write English. Jalaluddin always spoke to Kalam about educated people, of scientific discoveries, of contemporary literature, and of the achievements of medical science.

in the humble environs of Kalam’s boyhood, books were a scarce commodity. But the personal library of STR Manickam, a former revolutionary or militant nationalist, was sizeable. He encouraged Kalam to read all he could. Kalam visited his home often to borrow books.

KSEEB Solutions for Class 10 Hindi वल्लरी Chapter 5 मेरा बचपन

Another person who greatly influenced Kalam’s boyhood was his first cousin, Samsuddin. He was the sole distributor for newspapers in Rameswaram.

Kalam had three close friends in his childhood – Ramananda Sastry, Aravindan and Shivaprakasan. All these boys were from orthodox Hindu Brahmin families. But, Kalam says that, as children, none of them felt any difference amongst themselves because of their religious differences and upbringing.

शब्दार्थ :

  • कस्बा – छोटा शहर;
  • जीवन संगिनी – पत्नी;
  • रोजाना – नित्य;
  • कद-काठी – देह का गठन;
  • समुचित – योग्य;
  • पुश्तैनी – पैतृक;
  • जो पीढ़ियों से चला आता हो, जो कई पीढ़ियों तक चला जाय;
  • बहुल – बहुत;
  • पौ फटना (मुहावरा) – प्रभात होना;
  • बुनियाद – नींव;
  • भरसक – यथा शक्ति;
  • काम आना (मुहावरा) – इस्तेमाल होना, काम में आना;
  • तट – किनारा;
  • रफ्तार – गति;
  • रेत – बालू;
  • असर – प्रभाव;
  • जुमला – कुल;
  • महसूस – जिसका ज्ञान या अनुभव हो;
  • हिचकिचाहट – कोई काम करने से पहले आशंका के कारण रुकना;
  • ठेका – contract (नियत समय या दर पर कोई काम या बात करने-कराने का इकरार);
  • हतप्रभ – निस्तेज, शिथिल;
  • करीबन – लगभग;
  • स्तर – मान;
  • उपलब्धि – प्राप्ति;
  • दायरा – कार्यक्षेत्र, वृत्त;
  • अक्सर – प्रायः, अधिकतर;
  • वितरक – बाँटनेवाला;
  • कारोबार – कार्यव्यापार।
shares