KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

Students can Download KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण, KSEEB Solutions for Class 10 Hindi helps you to revise the complete Karnataka State Board Syllabus and to clear all their doubts, score well in final exams.

Karnataka State Syllabus Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

व्याकरण
KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण 1

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण 2

1) स्वर संधि :

दीर्घ संधि :

  1. समान + अधिकार = समानाधिकार
  2. धर्म + आत्मा = धर्मात्मा
  3. विद्या + अर्थी विद्यार्थी
  4. विद्या + आलय = विद्यालय
  5. कवि + इंद्र = कवींद्र
  6. गिरि + ईश = गिरीश
  7. मही + इन्द्र = महीन्द्र
  8. रजनी + ईश = रजनीश
  9. लघु + उत्तर = लघूत्तर
  10. सिंधु + ऊर्जा = सिंधूर्जा
  11. वधू + उत्सव = वधूत्सव
  12. भू + ऊर्जा = भूर्जा
  13. पितृ + ऋण = पितृण
  14. धर्म + अधिकारी = धर्माधिकारी
  15. शिव + आलय = शिवालय
  16. पर्वत + आवली = पर्वतावली
  17. संग्रह + आलय = संग्रहालय
  18. जल + आशय = जलाशय

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

गुण संधि :

  1. गज + इंद्र = गजेंद्र
  2. परम + ईश्वर = परमेश्वर
  3. महा + इंद्र = महेंद्र
  4. रमा + ईश = रमेश
  5. वार्षिक + उत्सव = वार्षिकोत्सव
  6. जल + ऊर्मि = जलोर्मि
  7. महा + उत्सव = महोत्सव
  8. महा + ऊर्मि = महोर्मि
  9. सप्त + ऋषि = सप्तर्षि
  10. महा + ऋषि = महर्षि
  11. पर + उपकार = परोपकार
  12. जल + ऊर्मि = जलोर्मि

वृद्धि संधि :

  1. एक + एक = एकैक
  2. मत + ऐक्य = मतैक्य
  3. सदा + एव = सदैव
  4. महा + ऐश्वर्य = महैश्वर्य
  5. परम + ओज = परमौज
  6. वन + औषध = वनौषध
  7. महा + ओजस्वी = महौजस्वी
  8. महा + औषधि = महौषधि

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

यण संधि :

  1. अति + अधिक = अत्यधिक
  2. इति + आदि = इत्यादि
  3. प्रति + उपकार = प्रत्युपकार
  4. मनु + अन्तर = मन्वंतर
  5. सु + आगत = स्वागत
  6. पितृ + अनुमति = पित्रनुमति
  7. पितृ + आज्ञा = पित्राज्ञा
  8. पितृ + उपदेश = पित्रुपदेश
  9. अति + अंत = अत्यंत
  10. सहन + अनुभूति = सहानुभूति

अयादि संधि :

  1. चे + अन = चयन
  2. ने + अन = नयन
  3. गै + अक = गायक
  4. नै + इका = नायिका
  5. भो + अन = भवन
  6. पौ + अन = पावन
  7. नौ + इक = नाविक

2) व्यंजन संधि :

  1. दिक् + गज = दिग्गज
  2. सत् + वाणी = सद्वाणी
  3. अच् + अन्त = अजन्त
  4. षट् + दर्शन = षड्दर्शन
  5. वाक् + जाल = वाग्जाल
  6. तत् + रूप = तद्रूप
  7. जगत + मोहन = जगनमोहन
  8. सत् + आचार = सदाचार
  9. सत् + जन = सज्जन

3) विसर्ग संधि :

  1. निः + चय = निश्चय
  2. निः + कपट = निष्कपट
  3. निः + रस = नीरस
  4. दुः + गंध = दुर्गंध
  5. मनः + रथ = मनोरथ
  6. पुरः + हित = पुरोहित
  7. निः + चिंत = निश्चिंत

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण समास

1) अव्ययीभाव समास :

विग्रह – सामासिक शब्द

  1. जन्म से लेकर – आजन्म
  2. खटके बिना – बेखटके
  3. पेट भर – भरपेट
  4. जैसा संभव हो – यथासंभव
  5. बिना जाने – अनजाने
  6. जैसी स्थिति हो – यथास्थिति
  7. होश के बिना – बेहोश
  8. दर्द के बिना – बेदर्द
  9. बिना देखे – अनदेखे
  10. रात ही रात – रातोंरात
  11. बिना जाने – अनजाने

2) कर्मधाराय समास :
KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण 3

3) तत्पुरुष समास :

क) कर्म तत्पुरुषः

  1. स्वर्ग को प्राप्त – स्वर्गप्राप्त
  2. ग्रंथ को लिखनेवाला – ग्रंथकार
  3. गगन को चूमनेवाला – गगनचुंबी
  4. चिड़िया को मारनेवाला – चिड़ियामार
  5. परलोक को गमन – परलोकगमन

ख) करण तत्पुरुषः

  1. अकाल से पीड़ित – अकालपीड़ित
  2. सूर के द्वारा कृत – सूरकृत
  3. शक्ति से संपन्न – शक्तिसंपन्न
  4. रेखा के द्वारा अंकित – रेखांकित
  5. अश्रु से पूर्ण – अश्रुपूर्ण.

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

ग) संप्रदान तत्पुरुषः

  1. सत के लिए आग्रह – सत्याग्रह
  2. राह के लिए खर्च – राहखर्च
  3. सभा के लिए भवन – सभाभवन
  4. देश के लिए भक्ति – देशभक्ति
  5. देश के लिए प्रेम – देशप्रेम
  6. गुरु के लिए दक्षिणा – गुरुदक्षिणा

घ) अपादान तत्पुरुषः

  1. धन से हीन – धनहीन
  2. जन्म से अंधा – जन्मांध
  3. पथ से भ्रष्ट – पथभ्रष्ट
  4. देश से निकाला – देशनिकाला
  5. बंधन से मुक्त – बंधनमुक्त
  6. धर्म से विमुख – धर्मविमुख

च) संबंध तत्पुरुषः

  1. प्रेम का सागर – प्रेमसागर
  2. भू का दान – भूदान
  3. देश का वासी – देशवासी
  4. राजा की सभा – राजसभा
  5. जल की धारा – जलधारा
  6. राजा के पुत्र – राजपुत्र

छ) अधिकरण तत्पुरुषः

  1. आप पर बीती – आपबीती
  2. कार्य में कुशल – कार्यकुशल
  3. दान में वीर – दानवीर
  4. शरण में आगत – शरणागत
  5. नर में श्रेष्ठ – नरश्रेष्ठ

4) दिवगु समास:

  1. सात सौ दोहों का समूह – सतसई
  2. तीन धाराएँ – त्रिधारा
  3. पाँच वटों का समूह – पंचवटी
  4. तीन वेणियों का समूह – त्रिवेणी
  5. सौ वर्षों का समूह – शताब्दी
  6. चार राहों का समूह – चौराह
  7. बारह मासों का समूह – बारहमासा
  8. नौ रात्रियों का समूह – नवरात्री
  9. चार मासों का समूह – चौमासा

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

5) द्वंद्व समास:

विग्रह – समस्तपद

  1. सीता और राम – सीता-राम
  2. पाप अथवा पुण्य – पाप-पुण्य
  3. सुबह और शाम – सुबह-शाम
  4. सुख या दुख – सुख-दुख
  5. दाल और रोटी – दाल-रोटी
  6. इधर और उधर – इधर-उधर
  7. दो और चार – दो-चार
  8. भला या बुरा – भला-बुरा
  9. श्रद्धा और भक्ति – श्रद्धा-भक्ति
  10. देश और विदेश – देश-विदेश
  11. राम और लक्ष्मण – राम-लक्ष्मण
  12. पति और पत्नी – पति-पत्नी
  13. दाल और चावल – दाल-चावल
  14. दिन तथा रात – दिन-रात
  15. अच्छा या बुरा – अच्छा-बुरा

6) बहुव्रीहि समासः

  1. घन के समान श्याम रंग है जिसका (कृष्ण) – घनश्याम
  2. श्वेत अंबर (वस्त्रों) वाली (सरस्वती) – श्वेतांबरी
  3. लंबा है उदर जिसका (गणेश) – लंबोदर
  4. चक्र है पाणि (हाथ) में जिसके (विष्णु) – चक्रपाणि
  5. तीन हैं नेत्र जिसके (शिव) – त्रिनेत्र
  6. दस हैं आनन (मुँह) जिसके (रावण) – दशानन
  7. नील है कंठ जिसका (शिव) – नीलकंठ
  8. वीणा ही पाणी जिसके (सरस्वती) – वीणापाणी

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण अनेक शब्दों के लिए एक शब्द

  1. जिसकी कल्पना भी न की जा सके – कल्पनातीत
  2. जिसकी कल्पना की जा सके – काल्पनिक
  3. जिसकी आँखे न दिखाई दे – अंधा
  4. जिसे कहा न जा सके – अकथनीय
  5. जो क्षमा न किया जा सके – अक्षम्य
  6. जिसका क्षय न हो – अक्षय
  7. बड़ा भाई – अग्रज
  8. जिसका कोई शत्रु पैदा न हुआ हो – अजातशत्रु
  9. जो किसी से जीता न जाय – अजेय
  10. ऐसे स्थान का वास जहाँ कोई पता न पा सके – अज्ञातवास
  11. जिसकी तुलना (समता) न की जा सके – अतुलनीय
  12. जो दूर की न सोचे – अदूरदर्शी
  13. जिसके समान कोई दूसरा न हो – अद्वितीय
  14. जो दिखाई न दे – अदृश्य
  15. जिसका अंत न हो – अनंत
  16. जिसका माँ-बाप या रक्षक न हो – अनाथ
  17. जिसे टाला न जा सके – अनिवार्य
  18. छोटा भाई – अनुज
  19. जो परीक्षा में सफल न हो – अनुत्तीर्ण
  20. जिस पर अपराध सिद्ध हो चुका हो – अपराधी
  21. जो परिचित न हो – अपरिचित
  22. कभी नहीं मरनेवाला – अमर
  23. जो काम मनुष्य से न हो सके – असंभव
  24. जो कभी मिटता नही – अमिट
  25. ऐसी वस्तु जिसका कोई मूल्य न हो सके – अमूल्य
  26. जो थोड़ा जानता हो – अल्पज्ञ
  27. जिसकी बुद्धि कम हो – अल्पबुद्धि
  28. जिसका कोई वर्णन न हो सके – अवर्णनीय
  29. जिसका विश्वास न किया जा सके – अविश्वसनीय
  30. जो बिना वेतन काम करे – अवैतनिक
  31. जो उचित समय पर न हो – असामयिक
  32. अपनी हत्या करनेवाला – आत्मघाती
  33. जिसमें शक्ति न हो – अशक्त
  34. जो शिक्षित न हो – अशिक्षित
  35. जिसे क्षमा न किया जा सके – अक्षम्य
  36. जो ईश्वर में विश्वास करता हो – आस्तिक
  37. जो परीक्षा में सफल हो – उत्तीर्ण
  38. ऊपर लिखा गया – उपरिलिखित
  39. जो ऊपर कहा गया हो – उपर्युक्त
  40. जिसने ऋण ले रखा हो – ऋणी
  41. जो कविताएँ लिखता है – कवि
  42. जो कविताएँ लिखती है – कवयित्री
  43. बर्तन बेचनेवाला – कसेरा
  44. काम से जी चुराने वाला – कामचोर
  45. जो खेत में हल चलाता है – किसान
  46. जो उपकार को माने – कृतज्ञ
  47. जो अपने प्रति किए गए उपकार को न माने – कृतघ्न
  48. जिसमें कृपा हो – कृपालु
  49. पल भर टिकनेवाला – क्षणिक
  50. जो बीत चुका हो – गत, अतीत
  51. गण(प्रजा) से निर्वाचित प्रतिनिधि द्वारा शासित राष्ट्र – गणतंत्र (प्रजातंत्र)
  52. जो गीत गाता हो – गायक
  53. जो ग्राम में रहता हो – ग्रामीण
  54. जो दूध देता है – ग्वाला
  55. जिसकी चार भुजाएँ हों – चतुर्भुज
  56. जो चिन्ता से घिरा हो – चिन्ताग्रस्त
  57. जिसकी चिन्ता दूर हो गयी हों – चिन्तामुक्त
  58. जो देर तक स्मरण करने योग्य हो – चिरस्मरणीय
  59. वर्षा के चार महीनों का समूह – चौमासा
  60. जो जन्तु पानी में रहता हो – जलचर
  61. जानने की इच्छा – जिज्ञासा
  62. जिस व्यक्ति को जानने की इच्छा हो – जिज्ञासु
  63. जो कपड़ा बुनता है – जुलाहा
  64. जिसे बहुत ज्ञान हो – ज्ञानी
  65. जिसे दण्ड.देना उचित हो – दण्डनीय
  66. जिसे दण्ड दिया गया हो – दण्डित
  67. पति और पत्नी – दम्पती
  68. दस वर्षों का समूह – वशाब्दी
  69. जो दूर की बात सोचे – दूरदर्शी
  70. जो देश से दगा करे – देशद्रोही
  71. जो नगर में रहता हो – नागरिक
  72. जो ईश्वर को न माने – नास्तिक
  73. जिसमें दया न हो – निर्दयी, निर्दय
  74. नीचे लिखा – निम्नलिखित
  75. जिसका कोई अर्थ न हो – निरर्थक
  76. जो एक अक्षर न पढ़ा हो – निरक्षर
  77. जिसकी कोई आकार न हो – निराकार
  78. जिसका कोई आधार न हो – निराधार
  79. जिसे जवाब न सूझे – निरुत्तर
  80. जिसमें संदेह न हो – निःसंदेह
  81. जो आँखों या इन्द्रियों के सामने न हो – परोक्ष
  82. जो दूसरों का उपकार/भलाई करे – परोपकारी
  83. पढ़नेवाला – पाठक
  84. जिसे प्यास हो – पिपासु
  85. जो पूजा करने के योग्य हो – पूजनीय
  86. जो आँखों अथवा इन्द्रियों के सामने हो – प्रत्यक्ष
  87. केवल फल खाकर रहनेवाला – फलाहारी
  88. जो पिता की बहन हो – फूफी (बुआ)
  89. जो सुन न सके – बधिर
  90. किसी वस्तु या व्यक्ति को न अपनाना – बहिष्कार
  91. जो बहुत जानता हो – बहुज्ञ
  92. खानेवाला – भक्षक
  93. जो आनेवाली है – भावी
  94. मन को प्रसन्न करनेवाला – मनोरंजक
  95. माँस खानेवाला – माँसाहारी
  96. तीस दिनों का समूह – मास (महीना)
  97. जो सोच समझकर खर्च करता हो – मितव्ययी
  98. जो थोड़ा बोलता हो – मितभाषी
  99. जो सबसे प्रसन्नतापूर्वक मिलता-जुलता हो – मिलनसार
  100. जो बोल न सके – मूक
  101. रक्षा करनेवाला – रक्षक
  102. जिसके नीचे रेखा हो – रेखांकित
  103. जो पुस्तक या लेख आदि लिखे – लेखक
  104. एक वर्ष के बाद होनेवाली – वार्षिक
  105. जो बहुत बोलता हो – वाचाल
  106. विद्या पाने की इच्छा वाला – विद्यार्थी
  107. जिसका पति मर चुका हो – विधवा
  108. जिसकी पत्नी मर चुकी हो – विधुर
  109. जिस पर विश्वास किया जा सके – विश्वसनीय
  110. विमान चलानेवाला – वैमानिक
  111. व्याकरण का विद्वान या ग्रन्थकार – वैय्याकरण
  112. सौ वर्षों का समूह – शताब्दी
  113. शाक-भाजी का भोजन करनेवाला – शाकाहारी
  114. जो श्रद्धा का पात्र हो – श्रद्धेय
  115. एक ही जाति के – सजातीय
  116. अच्छे आचरण वाला – सदाचारी
  117. जो सहनशील हो – सहिष्णु
  118. जिसका पति जीवित हो – सधवा
  119. सात दिनों का समूह – सप्ताह
  120. जो सब कुछ जानता हो – सर्वज्ञ
  121. जो साथ पड़ता हो – सहपाठी
  122. जो हर स्थान पर विद्यमान हो – सर्वव्यापी
  123. जो सब कुछ कर सकता हो – सर्वशक्तिमान
  124. जिसका आकार हो – साकार
  125. समाज से सम्बन्ध रखनेवाला – सामाजिक
  126. जो सुधार करे – सुधारक
  127. जो सोने जैसे रंगवाला हो – सुनहला
  128. जो सोने के गहने बनाता है – सुनार
  129. जो धरती पर निवास करता हो – स्थलचर
  130. जो सुख-दुःख में समान रूप से रहता हो – स्थितप्रज्ञ
  131. जो किसी को मार डाले – हत्यारा
  132. जो हर समय हँसता रहता हो – हँसमुख

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण मुहावरें और कहावतें

  • जो वाक्यांश अपने सामान्य अर्थ को छोड़कर किसी विशेष अर्थ को प्रकट करता है, वह ‘मुहावरा’ कहलाता है।
  • लोक द्वारा कही गई उक्ति ‘लोकोक्ति’ कहलाती है। इसे ‘कहावत’ भी कहते हैं। ये स्वतंत्र वाक्य होते हैं।

मुहावरे:

  1. आँखें चुराना – अपने को छिपाना
  2. आँख की किरकिरी – बुरा लगना (दुश्मन)
  3. अक्ल का अंधा – मूर्ख
  4. अंधे की लकड़ी – एकमात्र सहारा
  5. आपे से बाहर होना – मर्यादा को लाँघना
  6. आँखों में धूल झोंकना – धोखा देना
  7. आस्तीन का साँप – कपटी मित्रः
  8. ईद का चाँद होना – बहुत दिनों के बाद मिलना
  9. ईंट का जवाब पत्थर से देना – शत्रु को कड़ा जवाब देना
  10. कान भरना – चुगली करना
  11. खून का प्यासा – जान लेने पर उतारू होना
  12. होश उड़ जाना – घबरा जाना
  13. दाँत खट्टे करना – बुरी तरह हराना
  14. कलई खुलना – भेद खुलना
  15. नौ-दो ग्यारह होना – भाग जाना
  16. एक और एक ग्यारह होना – एकता में बल
  17. हवा से बातें करना – बहुत तेज दौड़ना
  18. बात का धनी – वादे का पक्का
  19. बाल बाँका न होना – जरा भी नुकसान न होना
  20. दाँतों तले उँगली दबाना – आश्चर्य प्रकट करना
  21. अकल पर पत्थर पड़ना – बुद्धि नष्ट होना
  22. भंडाफोड़ होना – भेद खुल जाना
  23. आँख मारना – इशारा करना
  24. नाक कटना – इज्जत जाना
  25. हवा हो जाना – गायब हो जाना
  26. अंगूठा दिखाना – देने से स्पष्ट इन्कार करना।
  27. अंगारे उगलना – क्रोध में कठोर वचन बोलना।
  28. अपना उल्लू सीधा करना – काम निकालना/स्वार्थ पूरा करना।
  29. आग बबूला होना – अधिक क्रोधित होना।
  30. आसमान सिर पर उठाना – शोर करना।
  31. कमर कसना – तैयार होना।
  32. खून पसीना एक करना – बहुत मेहनत करना।
  33. छक्के छुड़ाना – बुरी तरह हराना।
  34. दाल न गलना – सफल न होना।
  35. बाल-बाल बचना – खतरे से बच जाना।
  36. सातवें आसमान पर पहुँचना – अधिक क्रोध होना।
  37. घोड़े बेचकर सोना – निश्चिंत होना।
  38. पसीना बहाना – परिश्रम करना।
  39. हिम्मत न हारना – धीरज रखना।
  40. बीड़ा उठाना – जिम्मेदारी लेना।
  41. घाट-घाट का पानी पीना – बहुत अनुभव पाना।
  42. नाक में दम करना – अधिक तंग करना।
  43. उँगली पर नचाना – वश में रखना।

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

कहावतें:

  1. अंधों में काना राजा – मूों में थोड़ा ज्ञानी
  2. उलटा चोर कोतवाल को डाँटे – अपराधी निरपराध को डाँटे
  3. एक अनार सौ बीमार – चीज थोड़ी, माँगने वाले अधिक
  4. चार दिन की चाँदनी फिर अंधेरी रात – सुख के कुछ दिनों के बाद दुख का आना
  5. कोयले की दलाली में मुँह काला – बुरों के साथ बुराई ही मिलती है
  6. भैंस के आगे बीन बजाना – मूर्ख को अच्छी बात बताना
  7. नाच न जाने आँगन टेढ़ा – काम आता न हो और दूसरों के दोष निकालना
  8. साँप भी मर जाए और लाठी भी न टूटे – आसानी से काम हो जाना
  9. बंदर क्या जाने अदरक का स्वाद – मूर्ख गुणों की महिमा नहीं जानते
  10. मुँह में राम बगल में छुरी – बाहर से मित्रता, पर भीतर से बैर
  11. अंधा क्या चाहे दो आँखें – मनचाही बात हो जाना
  12. आँख का अंधा नाम नयन सुख – गुणों के विरुद्ध नाम होना
  13. ऊँट के मुँह में जीरा – जरूरत से बहुत कम
  14. कंगाली में आटा गीला – गरीबी में मुसीबत पर मुसीबत आना
  15. जैसी करनी वैसी भरनी – कर्म के अनुसार फल मिलता है
  16. बहती गंगा में हाथ धोना – अवसर का लाभ उठाना
  17. अब पछताए होत क्या जब चिड़ियाँ चुग गईं खेत – समय निकल जाने के पश्चात् पछताना व्यर्थ होता है
  18. एक हाथ से ताली नहीं बजती – झगड़े की वजह एक व्यक्ति नहीं होता
  19. गागर में सागर भरना – थोड़े शब्दों में बहुत-कुछ कहना
  20. जिसकी लाठी उसकी भैंस – बलवान की ही जीत होती है
  21. सौ सुनार की एक लुहार की – शक्तिशाली की एक और निर्बल की सौ चोट बराबर
  22. कहाँ राजा भोज कहाँ गंगू तेली – दो लोगों की स्थितियों में बहुत अंतर
  23. जो गरजते हैं वे बरसते नहीं – अधिक शोर मचाने वाले कम काम करते हैं।
  24. अधजल गगरी छलकत जाय – कम गुणों वाला व्यक्ति अधिक दिखावा करता है।
  25. आम के आम गुठलियों के दाम – दुगुना लाभ।
  26. खोदा पहाड़ निकली चुहिया – बहुत प्रयत्न करने पर भी कम लाभ पाना।
  27. चिराग तले अँधेरा – अपनी बुराइयाँ न दिखाई देना।
  28. चोर की दाढ़ी में तिनका – अपराधी स्वयं भयभीत रहता है।
  29. डूबते को तिनके का सहारा – मुसीबत के समय थोड़ी भी सहायता बहुत होती है।
  30. हाथी के दाँत खाने के और दिखाने के और – सामने कुछ और, पीछे कुछ और।

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण विराम चिह्न

  1. अल्प विराम – (,)
  2. अर्ध विराम – (;)
  3. पूर्ण विराम – (|)
  4. प्रश्न चिह्न – (?)
  5. विस्मयादिबोधक/भावसूचक चिह्न – (!)
  6. योजक चिह्न – (-)
  7. उद्धरण चिह्न – (” “) (‘ ‘)
  8. कोष्टक चिह्न – ( )
  9. विवरण चिह्न – (:-) (:)

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण काल
KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण 4

1. भूतकाल

अ) सामान्य भूतकाल

  • सोनू और मोनू ने मिठाई खायी
  • रामू ने किताब पढ़ी।

आ) आसन्न भूतकाल

  • माताजी अभी बाजार गई है।
  • हलवाई ने जलेबी बनायी है।

इ) पूर्ण भूतकाल

  • किरण खाना खा चुका था।
  • ड्राइवर गाड़ी लेकर जा चुका था।

ई) अपूर्ण भूतकाल

  • राहुल खेल रहा था।
  • रोहित गीत गा रहा था।

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

उ) संदिग्ध भूतकाल

  • सुशीला खाना बना चुकी होगी।
  • प्रशान्त खेल चुका होगा।

ऊ) हेतुहेतुमद् भूतकाल

  • कपिल पढ़ता तो पास हो जाता।
  • वर्षा होती तो अच्छी फसल हो जाती।

2. वर्तमान काल

  • पिताजी अखबार पढ़ रहे हैं।
  • चिड़ियाँ उड़ रही हैं।

क) सामान्य वर्तमान काल

  • वह घर जाता है।
  • गायें घास चरती हैं।

ख) अपूर्ण वर्तमान काल

  • कपिल खिलौने से खेल रहा है।
  • आचार्य नृत्य सिखा रहे हैं।

ग) संदिग्ध वर्तमान काल

  • अद्यापक महोदय आते होंगे।
  • तुम्हारे पिताजी घर पहुँचते होंगे।

3. भविष्यत् काल

  1. मैं भी कल से विद्यालय जाऊँगा।
  2. 25 दिसंबर को विद्यालय बंद रहेगा।

च) सामान्य भविष्यत् काल

  • सुरेश आम खाएगा।
  • माली पौधों को पानी देगा।

छ) संभाव्य भविष्यत् काल

  • शायद बारिश हो जाएं।
  • शायद अमित कल आ जाए।

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण लिंग

स्त्रीलिंग – पुल्लिंग

  1. छात्र – छात्रा
  2. आचार्य – आचार्या
  3. साहब – साहिबा
  4. नाना – नानी
  5. कुत्ता – कुतिया
  6. बेटा – बिटिया/बेटी
  7. सुनार – सुनारिन
  8. नाई – नाइन
  9. ठाकुर – ठकुराइन
  10. हलवाई – हलवाइन
  11. बालक – बालिका
  12. सेवक – सेविका
  13. सेठ – सेठानी
  14. नौकर नौकरानी
  15. शेर – शेरनी
  16. मोर – मोरनी
  17. महान – महती
  18. श्रीमान – श्रीमती
  19. भाग्यवान – भाग्यवती
  20. स्वामी – स्वामिनी
  21. एकाकी – एकाकिनी
  22. दाता – दात्री
  23. विधाता – विधात्री
  24. भाई – बहन
  25. नर – मादा
  26. देव – देवी
  27. घोड़ा – घोड़ी
  28. माली – मालिन
  29. पण्डित – पण्डिताइन
  30. बुद्धिमान – बुद्धिमति
  31. लेखक – लेखिका
  32. नायक – नायिका
  33. गायक – गायिका
  34. बंदर – बंदरिया
  35. बूढा – बुढिया/बूढ़ी
  36. अध्यापक – अध्यापिका
  37. सदस्य – सदस्या
  38. अध्यक्ष – अध्यक्षा
  39. पिता – माता
  40. युवक – युवती
  41. कवि – कवयित्री
  42. राजा – रानी
  43. आदमी – औरत
  44. पुरुष – स्त्री
  45. माँ – बाप
  46. भक्त – भक्तिन
  47. भिखारी – भिखारिन
  48. मालिक – मालकिन
  49. साथी – साथिन
  50. भगवान – भगवती
  51. बच्चा – बच्ची
  52. लड़का – लड़की
  53. बकरा – बकरी
  54. शिक्षक – शिक्षिका

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

निर्जीव वस्तुओं का लिंग (Gender of non-living things):

पुल्लिंग

  • पलंग/बिस्तर – तार
  • कंप्यूटर – कटोरा
  • पेन/कलम – फ्रिज
  • बल्ब – टेलीविज़न
  • कपड़ा – मसाला
  • कांच – घर
  • चश्मा – देश
  • दरवाजा – गिटार
  • भोजन/खाना – कमरा
  • पानी – पंखा
  • काम – पहाड़
  • जूता – जहाज
  • कप – आकाश

स्त्रीलिंग

  • कुर्सी – शर्ट
  • चाय – पेंट/पतलून
  • माचिस – टाई
  • लकड़ी – प्लेट
  • दीवार – चम्मच
  • सिगरेट – छत
  • बंदूक – कार/गाडी
  • रोटी – बस
  • बिजली – रेलगाड़ी
  • वायु/हवा – सड़क
  • किताब – माला
  • बोतल – नाव
  • खिड़की – चिड़िया
  • चप्पल – सीडी

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण कारक
KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण 5

1) कर्ता कारक :

  • रमेश ने सुरेश की सहायता की।
  • बाजीगर ने अनेक चमत्कार दिखाये।

2) कर्म कारक:

  • मालिक ने नौकरों को वेतन दिया।
  • लोगों ने चोर को पकड़ा।

3) करण कारक:

  • किसान हल से खेत जोत रहा है।
  • रमेश कलम से पत्र लिखता है।

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

4) संप्रदान कारक:

  • माता ने बेटी के लिए एक अंगूठी खरीदी।
  • नेहा शोभा के लिए पुस्तक लायी।

5) अपादान कारक:

  • गंगा हिमालय से निकलती है।
  • पेड़ से फल गिरा।

6) संबंध कारक :

  • सरोवर का पानी स्वच्छ होता है।
  • सोहन के दादा निरक्षर थे।
  • शशि की माता खुश थी।

7) अधिकरण कारक:

  • रमेश के पिता मुंबई में रहते हैं।
  • पेड़ पर अनेक पंछी बैठते हैं।

8) संबोधन कारक:

  • अरे! यह क्या हो गया?
  • वाह! कितना अच्छा है!

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण विरुद्धार्थक शब्द

  1. संतुष्ट × असंतुष्ट
  2. न्याय × अन्याय
  3. होश × बेहोश
  4. देश × विदेश
  5. अंधकार × प्रकाश
  6. आय × व्यय
  7. आगे × पीछे
  8. अमृत × विष/मृत
  9. आधार × निराधार
  10. परतंत्र × स्वतंत्र
  11. जय × पराजय
  12. सफल × विफल/असफल
  13. आदर × अनादर
  14. चल × अचल
  15. लिखित × अलिखित
  16. आवश्यक × अनावश्यक
  17. अंत × आदि
  18. अंदर × बाहर
  19. अंधेरा × उजाला
  20. अच्छा × बुरा
  21. अतिवृष्टि × अनावृष्टि
  22. अनुराग × विराग
  23. अपना × पराया
  24. अपव्यय × मितव्यय
  25. अपेक्षा × उपेक्षा
  26. अफसोस × खुशी
  27. अमीर × गरीब
  28. अल्प × अधिक
  29. असली × नकली
  30. आज्ञा × अवज्ञा
  31. आतंक × निरातंक
  32. आदान × प्रदान
  33. आदि × अनादि
  34. आकाश × पाताल
  35. आरोह × अवरोह
  36. आशा × निराशा
  37. आसान × मुश्किल
  38. आस्था × अनास्था
  39. आहार × निराहार
  40. ईमान × बेईमान
  41. उचित × अनुचित
  42. उदय × अस्त
  43. उदार × कृपण
  44. उत्तीर्ण × अनुत्तीर्ण
  45. उन्नति × अवनति
  46. उपस्थित × अनुपस्थित
  47. उष्ण × शीत
  48. ऊँच × नीच
  49. कपट × निष्कपट
  50. कमजोर × मजबूत
  51. काला × गोरा
  52. कोमल × कठिन
  53. कृतज्ञ × कृतघ्न
  54. कृश × स्थूल
  55. क्रूर × दयालु
  56. क्षुण्ण × अक्षुण्ण
  57. खण्ड × अखण्ड
  58. गर्मी × सर्दी
  59. गुरु × लघु
  60. चर × अचर
  61. चेतन × जड़
  62. जनम × मरण
  63. जीत × हार
  64. जीवन × मृत्यु/मरण
  65. जोड़ना × तोड़ना
  66. टूट × अटूट
  67. डर × निडर
  68. तनिक × ज्यादा
  69. तीव्र × मन्द
  70. दिन × रात
  71. दोस्त × दुश्मन
  72. द्वितीय × अद्वितीय
  73. नज़दीक × दूर
  74. नया × पुराना
  75. नवीन × पुरातन, प्राचीन
  76. नश्वर × अनश्वर
  77. निकट × दूर
  78. निर्माण × नाश
  79. निश्चय × अनिश्चय
  80. नैतिक × अनैतिक
  81. परिवर्तन × अपरिवर्तन
  82. पवित्र × अपवित्र
  83. पास × फेल
  84. पुरस्कार × तिरस्कार
  85. पूर्ण × अपूर्ण
  86. प्रश्न × उत्तर
  87. प्रसन्न × अप्रसन्न
  88. प्राचीन × अर्वाचीन, नवीन
  89. प्रिय × अप्रिय
  90. प्रीति × ईर्ष्या
  91. प्रेम × द्वेष
  92. बंधन × मुक्त
  93. बढ़ना × घटना
  94. बोध × अबोध
  95. भाग्य × दुर्भाग्य
  96. भाग्यवश × दुर्भाग्यवश
  97. भिन्न × अभिन्न
  98. मंगल × अमंगल
  99. मान × अपमान
  100. मिलन × विरह
  101. मीठा × खट्ठा
  102. योग्य × अयोग्य
  103. राग × विराग
  104. ज्ञान × अज्ञान
  105. लंबा × चौड़ा
  106. लाभ × नष्ट
  107. वास्तव × अवास्तव
  108. विवाह × अविवाह
  109. वीर × कायर
  110. विश्वास × अविश्वास
  111. शांति × अशांति
  112. शरम × बेशरम
  113. शाकाहारी × मांसाहारी
  114. शुद्ध × अशुद्ध
  115. शुभ × अशुभ
  116. संभव × असंभव
  117. संयोग × वियोग
  118. सच × झूठ
  119. सज्जन × दुर्जन
  120. सत्य × असत्य
  121. सदुपयोग × दुरुपयोग
  122. समझ × नासमझ
  123. समान × असमान
  124. समानता × असमानता, विषमता
  125. सरल × जटिल
  126. सस्ता × महंगा
  127. सहयोग × असहयोग
  128. सुंदर × कुरुप, असुंदर
  129. सुख × दुःख
  130. सुर × असुर
  131. सुशिक्षित × अशिक्षित
  132. सूक्ष्म × स्थूल
  133. सौभाग्य × दुर्भाग्य
  134. स्तुति × निंदा
  135. स्थिर × अस्थिर
  136. स्मरण × विस्मरण
  137. स्वतंत्रता × परतंत्रता
  138. स्वर्ग × नरक
  139. स्वराज्य × परराज्य
  140. स्वाधीन × पराधीन
  141. स्वाधीनता × पराधीनता
  142. स्वाभाविक × अस्वाभाविक
  143. स्वावलंबन × परावलंबन
  144. हँसना × रोना
  145. हिंसा × अहिंसा
  146. छोटा × बड़ा
  147. आरंभ × अंत
  148. थोड़ा × बहुत
  149. खरीदना × बेचना
  150. देना × लेना
  151. बैठना × उठना
  152. इधर × उधर

KSEEB SSLC Class 10 Hindi Grammar व्याकरण

KSEEB SSLC Class 10 Hindi व्याकरण वचन

एकवचन – बहुवचन

  1. बहन – बहनें
  2. रात – रातें
  3. बात – बातें
  4. किताब – किताबें
  5. आँख – आँखें
  6. कलम – कलमें
  7. थाली – थालियाँ
  8. गति – गतियाँ
  9. देवी – देवियाँ
  10. टोपी – टोपियाँ
  11. रीति – रीतियाँ
  12. नदी – नदियाँ
  13. तिथि – तिथियाँ
  14. सखी – सखियाँ
  15. वस्तु – वस्तुएँ
  16. लता – लताएँ
  17. सभा – सभाएँ
  18. गाथा – गाथाएँ
  19. कविता – कविताएँ
  20. कन्या – कन्याएँ
  21. बहू – बहुएँ
  22. माता – माताएँ
  23. बच्चा – बच्चे
  24. बेटा – बेटे
  25. छाता – छाते
  26. पंखा – पंखे
  27. लड़का – लड़के
  28. घोड़ा – घोड़े
  29. संतरा – संतरे
  30. गधा – गधे
  31. चुहिया – चुहियाँ
  32. खटिया – खटियाँ
  33. डिबिया – डिबियाँ
  34. लुटिया – लुटियाँ
  35. चिड़िया – चिड़ियाँ
  36. गुड़िया – गुड़ियाँ
  37. बालक – बालकगण
  38. छात्र – छात्रवृंद
  39. देव – देवगण
  40. पक्षी – पक्षीवृंद
  41. पाठक – पाठकवर्ग
  42. विद्वान – विद्वज्जन
  43. प्रजा – प्रजाजन
  44. अध्यापक – अध्यापकगण
  45. गिरि – गिरि
  46. घर – घर
  47. छाया – छाया
  48. कल – कल
  49. याचना – याचना
  50. क्षमा – क्षमा
  51. पानी – पानी
  52. जल – जल
  53. क्रोध – क्रोध
  54. मुनि – मुनि
  55. लड़की – लड़कियाँ
  56. जाति – जातियाँ
  57. गाड़ी – गाड़ियाँ
  58. बकरी – बकरियाँ
  59. स्त्री – स्त्रियाँ
  60. मेज – मेजें
  61. गाय – गाएँ
  62. माला – मालाएँ
  63. गुरू – गुरूजन
  64. नेता – नेतागण
  65. डॉक्टर – डॉक्टरलोग
  66. पुलिस – पुलिस
  67. भीड़ – भीड़
  68. जनता – जनता
  69. बकरा – बकरे
  70. गधा – गधे
  71. मेज – मेजें
  72. कपड़ा – कपड़े
  73. पहिया – पहिये
  74. शाखा – शाखाएँ
  75. भावना – भावनाएँ
  76. कक्षा – कक्षाएँ
  77. वार्ता – वार्ताएँ
  78. लता – लताएँ
  79. अध्यापिका – अध्यापिकाएँ
  80. भैंस – भैंसें
  81. सड़क – सड़कें
  82. बहन – बहनें
  83. आदत – आदतें
  84. नीति – नीतियाँ
  85. नारी – नारियाँ
  86. पाठक – पाठकगण
  87. अधिकारी – अधिकारी गण
  88. पेड़ – पेड़
  89. लोग – लोग
  90. हाथ – हाथ
  91. ग्रंथ – ग्रंथ
  92. फल – फल
  93. पत्र – पत्र
  94. दोस्त – दोस्त
  95. मंदिर – मंदिर
  96. संतान – संतान
  97. पत्थर – पत्थर
  98. फूल – फूल
  99. कंप्यूटर – कंप्यूटर
  100. रिश्तेदार – रिश्तेदार
  101. धन – धन
  102. खेत – खेत
  103. आदमी – आदमी
  104. रास्ता – रास्ते
  105. कमरा – कमरे
  106. पैसा – पैसे
  107. कौआ – कौए
  108. 108) नंगा – नंगे
  109. डिब्बा – डिब्बे
  110. बात – बातें
  111. मेज़ – मेजें
  112. सड़क – सड़कें
  113. चादर – चादरें
  114. आँख – आँखें
  115. संस्था – संस्थाएँ
  116. आशा – आशाएँ
  117. कविता – कविताएँ
  118. महिला – महिलाएँ
  119. वस्तु – वस्तुएँ
  120. मूर्ति – मूर्तियाँ
  121. कृति – कृतियाँ
  122. उपाधि – उपाधियाँ
  123. रोटी – रोटियाँ
  124. उँगली – उँगलियाँ
  125. खिड़की – खिड़कियाँ
  126. कुटिया – कुटियाँ
  127. पक्षी – पक्षी वृंद
shares